About Me

header ads

कोरोना के सेम्पल के लिए नर्सेज को लगाने पर गहरा आक्रोश, विरोध मे मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

बून्दी। राजस्थान राज्य नर्सेज एसोसिएशन  एकिकृत के प्रांतीय आव्हान पर जिले  के नर्सिंग कर्मियों ने कोरोना सेम्पलिंग मे लगाने के विरोध मे आक्रोश व्यक्त करते हुए अतिरिक्त कलक्टर अमानुल्ला खान, सीएमएचओ डॉ0 गोकुल लाल मीणा के माध्यम से मुख्यमंत्री एंव प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डा प्रभाकर विजय के माध्यम से चिकित्सा मंत्री के नाम ज्ञापन भेजा है। 


संघटन के संभागीय संयोजक अनीस अहमद, जिला महामंत्री जितेंद्र चंदेल एएनएम, एलएचवी प्रकोष्ठ की संभाग संयोजिका रामेश्वरी सोनी, जिला संयोजिका ममता शर्मा ने ज्ञापन देने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि  निदेशालय द्वारा हाल ही मे जारी नर्सेज को कोरोना के सेम्पल लेने के लिए लगाए जाने के आदेशों को लेकर प्रदेश के नर्सिंग कर्मियो मे गहरा आक्रोश है। क्योंकि इन आरटीपीसीआर सेम्पल को लेने के लिए नाक कान गला विशेषज्ञ एंव पीजी मेडिकोज ही भारत सरकार द्वारा अधिकृत है, इन आदेशों के खिलाफ पूरे प्रदेश मे आज प्रथम चरण मे ज्ञापन देकर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है, इसके पश्चात अगले चरण की घोषणा की जायेगी । 

प्रदेश का नर्सिंग कर्मी इस कोरोना महामारी मे अपनी जान की बाजी लगाकर अपने कर्तव्य का निर्वाह कर रहा है। वहीं राज्य सरकार द्वारा पदनाम परिवर्तन, विभागीय पदोंनती जैसी गैर वित्तीय मांग को पूरा नही करके नर्सेज के धेर्यं की परीक्षा ली जा रही है। साथ ही पहले से ही कार्य के अत्यधिक बोझ तले दबी महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओ पर लीसा एप से डाटा अपलोड की जिम्मेदारी डालने से उनमे गहरा आक्रोश है। जबकि यह कार्य कप्यूटर ऑपरेटर से करवाया जाना चाहिए जो कि इस कार्य मे दक्ष है।

ज्ञापन के दौरान संघटन से जुड़े शाहिद अंसारी, जिला प्रवक्ता मनीष जेन, गिरिराज बसुवाल, अनिता मेघवाल, मुफीद, कौशल्या राठौड़, अफरोज, महिमा वमार्, अयोध्या  सहित दर्जनों महिला पुरुष चिकित्सा कर्मी मौजूद रहे।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां